Meri Behna [ Hindi Poetry]

Happy Rakhshabandhan 🏵️ मेरी बहेन शैतानी करने पर डाँटती है मुझे, मेरी बहेन भूल करने पर समझाती है मुझे मेरी बहेन है पल मे खुश रहना शीखाती है मुझे मेरी बहेन खुद से भी ज्यादा चाहती है मुझे। मेरे डाँटने पर रूठती है मुझसे मेरे सताने पर कुट्टी है मुझे मेरे हारने पर खुद भी […]

Read More Meri Behna [ Hindi Poetry]